कम्यूटर क्या है? What is Computer in Hindi? History, Types, Fundamental Basics

0
878
कम्यूटर क्या है,What is Computer in Hindi? History, Types, Fundamental Basics

कम्यूटर क्या है ? मुझे नहीं लगता आज इस बात को कोई कह सके की मुझे नहीं पता कंप्यूटर क्या है। लेकिन कंप्यूटर से जुडी अनेको जानकारी है जो बहुत काम ही लोगो को पता होगा। आज इस विषय पर हम यह लेख लिखने जा रहे है जिसमे हम आपको कंप्यूटर से जुडी लगभग सभी जानकारिओं को साझा करंगे।

इसमें कंप्यूटर के Basic Information, History, Types, Works इस्त्यादी की जानकारी दी हुई है।

परिचय

आज के समय में अगर हम कही भी कोई भी काम होता हुआ देखते है तो उसमे techology का बहुत बड़ा योगदान रहा है। इसी techonlogy की कड़ी में सबसे महत्वपूर्ण योगदान computer का है।

कंप्यूटर के बिना आज कोई काम नहीं हो पता इसके आने के बाद से दुनिया में एक नया आधुनिकी योग का उदय हुआ।

आज भारत में भी जूनियर स्कूलों से ही बच्चो को कंप्यूटर के बारे में और उसका इस्तेमाल करना सीखे दिया जाता है। क्यूंकि कंप्यूटर पर बढ़ती आत्मनिर्भरता के कारण इसका एक अलग विषय बना कर schools, colleges और University में पढ़ाया जाता है।

कंप्यूटर क्या है? (What is Computer?)

कंप्यूटर एक इलेक्ट्रॉनिक मशीन है जो दिए गए input को आदेश अनुसार डाटा के प्रकिर्या करके उसके results में बदलकर output के रूप में प्रस्तुत करता है।इसके अर्थ को सरल भाषा में समझे तो कंप्यूटर एक मशीन है जो एक users द्वारा दिए गयी command का पालन करती है। 

अब आप सोचेंगे जिसने कंप्यूटर बनाया उसे ये नाम कहा से मिला तो इसके लिए हम आपको बता दे की कंप्यूटर शब्द COMPUTRE एक Latin Word से निकला है जिसका मतलब Calculation होता है।

कंप्यूटर का फुल फॉर्म क्या है?What is the Full Form of Computer?

जैसा की ऊपर हमने आपको कंप्यूटर शब्द एक Latin word है लेकिन इसका कोई फुल फॉर्म नहीं है। फिर भी इस सवाल को मैंने इंटरनेट पर सर्च करते हुए देखा है।

C Common
OOperating
MMachine
PPurposely
UUsed for
TTechnological
EEducational
RResearch

कंप्यूटर का इतिहास (History )

कंप्यूटर का इतिहास को समझना बेहद जरूरी है अगर आप कंप्यूटर से जुड़े पढ़ाई कर रहे है तो। कंप्यूटर को बनाने का काम कब शुरू हुआ था इसका कोई आदिकारिक समय कही पर दर्ज नहीं है और कब बन कर त्यार होगया। लेकिन इसके इतिहास में इसको दुनिया को समझाने के लिए मुख्य पांच generation में बाटा गया है।

कंप्यूटर के इतिहास को पीढ़ी के हिसाब से भाग किया हुआ है। जैसे जैसे कंप्यूटर तकनीक विकसित हो रही है वैसे वैसे कंप्यूटर generation को बताया गया है। निचे देखे 5 कंप्यूटर generations :-

पहेली पीढ़ी (First Generation 1940-1956)

यह सबसे पहेली पीढ़ी थी जिसमे कंप्यूटर को vacuum tubes की मेमोरी के लिए इस्तेमाल किया जाता था। इस generation के कंप्यूटर size में बहुत बड़े होते थे जिनको एक जगह से दूसरी जगह तक ले जाने में बहुत समय लगता था तथा इनको चलाने के लिए बहुत ऊर्जा की जरूरत पड़ती थी।

इस पीढ़ी में तकनिकी का अभाव होता था जिससे results लेने में बहुत मेहनत लगती थी। इनमे सबसे पहले Machine Language का उपयोग हुआ था।

इस में कुछ मुख्य कंप्यूटर है :-

  • ENIAC ( Electronic Numerical Integrator and Computer)
  • EDVAC ( Electronic Discrete Variable Automatic Computer)
  • IBM-701
  • UNIVACI ( Universal Automatic Computer)
  • IBM-650

दूसरी पीढ़ी (Second Generation 1959-1965 )

इस समय अवधी में transistor कंप्यूटर ने अपनी जगह बनायीं। यह बहुत छोटे ,सस्ते और fast होते थे। ट्रांजिस्टर कंप्यूटर के आने से इससे काम निकलना आसान होगया यह कम ऊर्जा में भी अधिक काम करने में सक्षम था। पहेली पीढ़ी कंप्यूटर के मुकाबले दूसरी पीढ़ी के कंप्यूटर आसानी से एक जगह से दूसरी जगह ले जा सकते थे।

इस में कुछ मुख्य कंप्यूटर है :-

  • IBM 1620
  • IBM 7094
  • CDC 1604
  • CDC 3600
  • UNIVAC 1108

तीसरी पीढ़ी (Third Generation 1964-1971)

तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर में ट्रांजिस्टर की जगह Integrated Circuits (ICs) ने ले लिया । एक ICs बड़ी संख्या में Transistors के समहू के बारबार होता है जिसने कंप्यूटर की लागत को कम करने में मदद मिली। Integrated Circuits काफी तेज और शक्तिशाली तथा इसको आसानी से कही भी ले जाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है । तीसरी पीढ़ी के कंप्यूटर Remote Processing, Time-Sharing, Multi Programming को ऑपरेटिंग सिस्टम के रूप में इस्तेमाल करते थे।

इस में कुछ मुख्य कंप्यूटर है :-

  • IBM-360 series
  • Honeywell-6000 series
  • PDP(Personal Data Processor)
  • IBM-370/168
  • TDC-316

चौथी पीढ़ी (Fourth Generation 1971-1980)

चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर तीसरी पीढ़ी से एक कदम आगे है इसमें very large scale integrated (VLSI) circuits का उपयोग हुआ जो लाखो transistors और circuit elements चिप के बराबर है। यह तीसरी पीढ़ी के मुकबले बहुत तेज है। इसको बनाने में लगने वाली लागत भी कम है तथा यह size में छोटा भी है।

इस पीढ़ी में C, C ++, DBASE जैसी प्रोग्रामिंग भाषाओं का उपयोग होना शुरू होगया था ।

इस में कुछ मुख्य कंप्यूटर है :-

  • DEC 10
  • STAR 1000
  • PDP 11
  • CRAY-1(Super Computer)
  • CRAY-X-MP(Super Computer)

पांचवी पीढ़ी (Fifth Generation 1980 Till Date )

पांचवी पीढ़ी की शरुवात 1980 से हुई जो अभी चल रही है इस पीढ़ी को Artifical Intellegnce (AI ) का युग कहते है। इसमें ULSI (Ultra Large Scale Integration ) ने चौथी पीढ़ी के कंप्यूटर यानि VLSI technology की जगह ली। इसमें ऐसी microprocessor chips का बनाया गया जिसमे करोडो electronic components को मिला कर एक किया।
इस पीढ़ी के कंप्यूटर में Hardware और Artifical Intellegnce सॉफ्टवेयर का इस्तेमाल करते है । इस में programming languages में C, C ++, Java, .Net आदि आते है ।

इस में कुछ मुख्य कंप्यूटर है :-

  • Desktop
  • Laptop
  • NoteBook
  • UltraBook
  • ChromeBook

कंप्यूटर के जन्मदाता कौन हैं ?

कंप्यूटर के आविष्कार किसने किया ?इसमें अगर कहा जाये तो इसमें बहुत से लोगो ने अपना योगदान कंप्यूटर बनाने में दिया। लेकिन आधिकारिक कंप्यूटर का जनक Charles Babbage को कहा जाता है। Charles Babbage एक English mathematician थे जिहोने Analytical Data को calculate करने के लिए Analytical Engine नाम के कंप्यूटर का आविष्कार 1837 में किया था।

Basic Parts of Computer

मेरा न राकेश है और में एक इंग्लिश, हिंदी में ब्लॉग्गिंग करता हु | मेरा हिंदी ब्लॉग बनाने का Motive यहाँ है की हमारे देश भारत में आज हिंदी भाषा को पड़ने वाले बहुत ज्यादा users है लेकिन उन्हें हिंदी ब्लॉग में सभी जानकारी नहीं मिल पाती इसलिए मैंने HPEDIA बनायीं है जिसमे सभी जानकारी हिंदी में प्राप्त कर सकते है .

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here